पटना जंक्शन से यात्रा करने वाले यात्रियों को सामान घर तक पहुंचाने की चिंता से मिलेगा छुटकारा

 


पटना। बिहार के पटना जंक्शन से यात्रा करने वाले यात्रियों को अब घर से सामान ले जाने या स्टेशन से सामान घर तक पहुंचाने की चिंता से जल्द छुटकारा मिलेगा। पूर्व मध्य रेल (पूमरे) के दानापुर रेल मंडल ने इस नई सुविधा को मंजूरी दी है। दानापुर मंडल से इसकी शुरुआत की जिम्मेवारी एजेंसी बुक एंड बैगेज्स डॉट कॉम को मिली है। 15 फरवरी के बाद पटना में इसकी शुरुआत होगी।

पूर्व मध्य रेलवे (पूमरे) के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी (पीआरओ) राजेश कुमार ने शनिवार को हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में कहा कि इस योजना की मॉनिटरिंग मंडल के वरीय वाणिज्य पर्यवेक्षक खुद कर रहे हैं। पटना जंक्शन पर एजेंसी को रेलवे ने अमानती सामान गृह (क्लॉक रूम) में 300 वर्ग फीट जगह दी है। उन्होंने कहा कि इस निश्चित तारीख के बारे में अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है,लेकिन 15 फरवरी के बाद इस योजना की शुरुआत होने की उम्मीद है।राजेश कुमार ने कहा कि सबसे पहले अहमदाबाद रेलवे स्टेशन से 23 से 26 जनवरी के बीच इस योजना का शुभारंभ हो रहा है। इसके बाद बेंगलुरु व नागपुर में इसकी शुरुआत होगी। पूर्वी भारत में पटना पहला जंक्शन होगा, जहां से यह सेवा शुरू होगी।

उहोंने कहा कि यात्रियों को एप व वेबसाइट पर बुकिंग का विकल्प होगा।एप एंड्रायड मोबाइल में डाउनलोड़ करना होगा।बैग के साइज, वजन व दूसरी जानकारी देनी होगी। शुल्क स्टेशन से दूरी और वजन के हिसाब से लगेगा।अधिकतम दूरी 50 किलोमीटर तक ही यह सेवा मिलेगी। 10 किमी की दूरी व न्यूनतम 10 किलो के बैग का एक साइड का शुल्क 125 रुपये। बर्थ तक सामान ले जाने के लिए कुली का निर्धारित शुल्क भी लगेगा। एक से अधिक (अधिकतम पांच) लगेज होगा तो पहले लगेज का शुल्क 125 रुपये, बाकी के 50-50 रुपये। लगेज की रैपिंग व सेनेटाइजेशन की सुविधा भी लाभ भी ले सकेंगे।जीपीएस सिस्टम से कर सकेंगे ट्रैकिंग। सामान का बीमा भी मिलेगा

यह खबर भी पढ़े: ममता ने केंद्र सरकार पर लगाया आरोप- बिना बात किए केंद्र ने घोषित किया पराक्रम दिवस

From around the web