सदर अस्पताल के एसएनसीयू से बच्चा चोरी के खिलाफ परिजनों ने किया सड़क जाम

 


छपरा। सदर अस्पताल के एसएनसीयू से बच्चा चोरी के विरोध में परिजनों ने रविवार को सदर अस्पताल के सामने डाकबंगला रोड को जाम कर यातायात बाधित कर दिया तथा जमकर हंगामा मचाया। बच्चा चोरी शनिवार को दोपहर करीब 2:00 बजे हुई थी और प्रशासन के द्वारा देर शाम तक बच्चा बरामद कर लिए जाने का आश्वासन दिया गया था, लेकिन अगले दिन आज रविवार को बच्चा बरामद नहीं होने से आक्रोशित होकर परिजनों ने सदर अस्पताल के मुख्य गेट के सामने डाक बंगला रोड को जाम कर दिया।

शनिवार से नवजात शिशु के परिजन आंदोलनरत हैं। शनिवार की संध्या समय परिजनों के द्वारा एसएनसीयू के सामने आगजनी कर प्रदर्शन किया गया था। करीब 24 घंटे से सदर अस्पताल में हंगामा की स्थिति बनी हुई है। बताते चलें कि खैरा थाना क्षेत्र के धूप नगर गांव निवासी सुशील कुमार साह के नवजात शिशु को इलाज के लिए शुक्रवार को एसएनसीयू में भर्ती कराया गया था। अगले दिन शनिवार को दोपहर करीब 2:00 बजे महिला स्वास्थ्य कर्मी में सुशील कुमार साह को हगीज खरीद कर लाने के लिए भेजा। सुशील हगीज खरीद कर जब वापस लौटा, तब तक उसका बच्चा एसएनसीयू से गायब था।

इस घटना के बाद से अस्पताल में हंगामा शुरू हो गया। घटना की सूचना पाकर मौके पर जिलाधिकारी डॉ निलेश रामचंद्र देवरे, पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार, सिविल सर्जन डा माधवेश्वर झा पहुंचे और परिजनों से मिलकर घटना की जानकारी ली। इस घटना के बाद भगवान बाजार थाना की पुलिस कार्रवाई शुरू कर दी, लेकिन बच्चा को बरामद करने में भगवान बाजार थाना की पुलिस पूरी तरह नाकाम और विफल रही है । घटना के बाद से नवजात शिशु के परिजन सदर अस्पताल में ही जमे हुए हैं और वह लगातार हंगामा कर रहे हैं। रविवार को दिन के करीब 10:00 बजे सदर अस्पताल में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय सीटी स्कैन सेंटर का उद्घाटन करने के लिए आने वाले थे। इसको लेकर अस्पताल प्रशासन की ओर से सभी तैयारियां पूरी कर ली गई थी।

इसी बीच नवजात शिशु के परिजनों ने अस्पताल के मेन गेट के सामने सड़क जाम कर बवाल मचाना शुरू कर दिया। नवजात शिशु के परिजनों के हंगामा और आंदोलन के कारण मंत्री अस्पताल नहीं पहुंचे और सुबह 10:00 बजे प्रस्तावित उद्घाटन कार्यक्रम अब तक नहीं हो सका है। इसी बीच आंदोलनकारी जिलाधिकारी के आवास के सामने पहुंचकर घेराव शुरू कर दिए और वहां भी हंगामा मचा हुआ है। समाचार लिखे जाने तक डाकबंगला रोड जाम है। मौके पर यातायात पुलिस के जवान पहुंचे हुए हैं। परिजनों का कहना है कि बच्चा जब तक बरामद नहीं होगा तब तक वह सड़क पर ही बैठे रहेंगे। सड़क जाम तथा आंदोलन के बावजूद भगवान बाजार थाना के पुलिस पदाधिकारी नजर नहीं आए। मौके पर केवल यातायात पुलिस के जवान पहुंचे हुए हैं। नवजात शिशु के परिजनों के आंदोलन के कारण विधि व्यवस्था की गंभीर समस्या उत्पन्न होने की आशंका बनी हुई है।

यह खबर भी पढ़े: विक्टोरिया मेमोरियल में ममता बनर्जी के मंच पर पहुंचते ही लोगों ने लगाए जय श्रीराम के नारे, दीदी ने कहा- बुलाकर बेइज्जती करना ठीक नहीं

यह खबर भी पढ़े: आज वरुण धवन की दुल्हनिया बनेंगी नताशा दलाल, अलीबाग के 'द मेंशन्स रिजॉर्ट' में लेंगे सात फेरे

From around the web