28 अक्तूबर, आज का पवित्र लेख

 
28 अक्तूबर, आज का पवित्र लेख


"कोई भी मनुष्य सच्चे ज्ञान के महासागर के तट पर तब तक नहीं पहुंच सकता जब तक वह स्वर्ग और पृथ्वी की सभी चीजों से अनासक्त नहीं हो जाता। हे लोगों ! अपनी आत्मा को निर्मल कर लो ताकि तुम उस स्थान को प्राप्त कर सको जो परमात्मा ने तुम्हारे लिए नियत किया है, इस प्रकार तुम उस मण्डप-वितान में प्रवेश पा सको जो विधाता के द्वारा दी गई व्यवस्था के अनुसार "बयान"के स्वर्गिक विस्तार में फैला दिया है।"

                     - बहाउल्लाह की लेखनी से 

 

बहाई धर्म एक नया और स्वतंत्र धर्म है,जिसकी उत्पत्ति 1844 में ईरान से हुई। बहाई धर्म के अनुसार बाब और बहाउल्लाह इस युग के ईश्वरीय अवतार है। बहाई धर्म का उद्देश्य मानवजाति के बीच एकता स्थापित करना है। अधिक जानकारी के लिए Baha'i.org पर देखें।

आप यदि रोज़ का पवित्र लेख चाहते है तो अपना व्हाट्सएप्प नंबर जोड़ने के लिए क्लिक करे: पवित्र लेख

 

From around the web