मृत्युभोज का किया त्याग, मृतक की स्मृति में इंदौक विद्यालय में कमरा निर्माण की रखी नींव

 


उमरैण। ब्लाक मुख्यालय क्षेत्र के ग्राम पंचायत माधोगढ़ छोटी इंदौक निवासी स्व. सेडूराम मीना की कुछ दिनों पहले मृत्यु उपरांत नुक्ता आयोजन ना करके, तात्कालिक समय मे पारिवारिक पुत्रों ने जनसामाजिक शैक्षिक उत्थान में मृत्युभोज अंधविश्वास, कुप्रथा को त्यागकर उनकी स्मृति यादगार में गांव के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय  इंदौक में स्वेच्छिक योगदान पर कक्षा कक्ष मय बरामदा निर्माण का संदेश दिया था।

मृत्युभोज का किया त्याग, मृतक की स्मृति में इंदौक विद्यालय में कमरा निर्माण की रखी नींव

शुक्रवार को इस मोके पर विद्यालय परिसर में विद्यालय प्रधानाचार्य सुमन यादव, पारिवारिक पुत्र एवं माता सिंगारी देवी, प्रभात मीना, जगदीशप्रसाद, जालमा, सालगा, पूर्व सरपंच हीरालाल सैनी, इंदौक सरपंच पैमाराम सैनी, रामप्रताप चिडावत, पूरण सिहरा, रामोतार सांवर, रामजीलाल उसारा, हीरालाल गुर्जर, कानाराम, रतीराम पटेल, पैमाराम एवं उपस्थित विधालय स्टाफ गांव के पंच-पटेल व महिलाएं मोजूदगी में नींव रखी। ज्ञातव्य है की मृत्युभोज कुप्रथा एवं राजस्थान मृत्युभोज निषेध अधिनियम 1960 की पालन में नैहडा उत्थान एवं विकास मंच क्षेत्र के साथ जुड़कर सामाजिक शैक्षिक उत्थान पर संदेश सराहनीय कार्य रहा है।

यह खबर भी पढ़े: राहुल गांधी ने देशवासियों से की अपील, बोले- किसानों के हक के लिए उठाएं आवाज

From around the web